Follow by Email

Tuesday, 6 March 2012

किन्तु समय ना पास, समय का रोना रोते



गई बैलगाड़ी बदल, मेट्रो का कर साथ ।
त्वरित वेग वाहन चलें, लगे घूमने माथ । 
http://0.tqn.com/d/goindia/1/0/5/E/-/-/1166983_22947210.jpg
लगे घूमने माथ, स्वयं से हर-पल भोगे ।
भरे ऊर्जा पाथ,  सेकेण्ड नैनो उपयोगे ।
http://www.sportscarcup.com/cars/black-ferrari-fxx-front.jpg
किन्तु समय ना पास, समय का रोना रोते ।
हुए समय के दास, साथ अपनों का खोते ।।



6 comments:

  1. अच्छी प्रस्तुति,सुंदर दोहे,...
    होली की बहुत२ बधाई शुभकामनाए...

    RECENT POST...काव्यान्जलि ...रंग रंगीली होली आई,

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    रंगों की बहार!
    छींटे और बौछार!!
    फुहार ही फुहार!!!
    होली का नमस्कार!
    रंगों के पर्व होलिकोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ!!!!

    ReplyDelete
  3. सुन्दर दोहे....
    आपकी होली शुभ हो...

    सादर.

    ReplyDelete
  4. sunder prastuti


    रंग बिरंगी है रंगोली
    मस्तानो की निकली टोली
    कहीं अबीर गुलाल कहीं पर
    चली धडल्ले भंग की गोली
    पिचकारी से छूटे गोली
    रहे सलामत कैसे चोली
    ईना, मीना, डीका, रीना
    नहीं बचेगी कोई भोली
    आज अधर खामोश रहेंगे
    आज रंग हैं सबकी बोली
    आज नहीं छोड़ेंगे भौजी
    बुरा न मानो है ये होली


    होली पर आप सभी को मेरे और मेरे परिवार की और से हार्दिक शुभकानाएं ...होली के बिबिध रंगों की तरह आपका जीवन रंगबिरंगा बना रहे ....खुशियाँ आपके कदम चूमे ..आपके अंतर का कलुष हटे.......प्रेम का साम्राज्य चहु ओर स्थापित हो ..पुनः इन्ही शुभकामनाओं के साथ


    डॉ आशुतोष मिश्र
    निदेशक
    आचार्य नरेन्द्र देव कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी
    बभनान , गोंडा . उत्तरप्रदेश
    मोबाइल न० 9839167801

    ReplyDelete
  5. वक़्त की रफ़्तार तेज़ है, और हम अपनी गति में ..

    ReplyDelete
  6. किन्तु समय ना पास, समय का रोना रोते ।
    हुए समय के दास, साथ अपनों का खोते ।।
    बेहतरीन कटाक्ष आज की रहनी सहनी प्रेम झरोखों पर . नुश्खे सेहत के :

    चेहरे से होली के रंग उतारने के लिए रूई के फाये को सरसों (मस्टर्ड आयल )या फिर गोले के तेल (कोकोनट आयल ) से संसिक्त करके स्तेमाल में लीजिये .आहिस्ता आहिस्ता रंग उतारिये .लेकिन होली खेलने से पहले चेहरे और हाथ पैरों पे तेल मलके चमड़ी के रंध्रों (फेफड़ों )को अवरुद्ध न करें .इससे बाद में पेचीलापन आ सकता है 'Dermatitis' हो सकती है .होली के आम रंगों में खतरनाक रसायनों का डेरा हो सकता है .ओरगेनिक कलर्स की और बात है .

    'Dermatitis' चमड़ी का ऐसा रोग है जिसमें त्वचा लाल ,सूजन युक्त और दर्दीली हो जाती है .

    'Dermatitis' is inflammation of the skin from any cause ,resulting in a range of symptoms such as redness ,swelling ,itching ,or blistering.

    कमर दर्द से छुटकारे के लिए रोजाना १५-२० बादाम खाइए .स्किन समेत खाइए रात को भिगोकर छिलका मत हटाइये .छिलके में ही कोलेस्ट्रोल कम करने वाले जादुई रेशें हैं .

    होली मुबारक सभी ब्लोगर भाइयों और बांध्वियों को .

    ReplyDelete