Follow by Email

Thursday, 2 August 2012

नारद का ही हाथ है, यह पूना विस्फोट-रविकर



हैपी रमजान शिंद जी,

कमल कुमार सिंह (नारद ) at नारद
नारद का ही हाथ है, यह पूना विस्फोट ।
इक दिन पहले था लिखा, शिंदे पर इक पोस्ट ।

शिंदे पर इक पोस्ट , कमल है भाजप वाला ।
सिंह नाम का काम, कराये दंगा काला ।

जांच असम की करो, हाथ नारद का निकले ।
ए टी एस ध्यान धरो, बर्फ सेक्युलर न पिघले ।।


मोहन भागवत अनशन पर क्यो नही ?

अरुण सी दवे 
छन्ना सेक्युलर छानता, पयलट आजम खान ।
मोहन मोदी का नहीं, प्यारे हिन्दुस्तान ।

प्यारे हिन्दुस्तान, भले मानुष सब चंगे ।
करते सेक्युलर मौज,  असम के खूनी दंगे ।

मोहन अनशन करे, छोड़ अन्ना को रविकर ।
असमी हिन्दू मरे, छानता छन्ना सेक्युलर ।।

बचके भैया डब्लू मैं मिनरल वाटर हूँ (स्वास्थ्य दिवस पर विशेष)



विज्ञापन के दौर में, टूथ पेस्ट में नमक ।
साबुन में निम्बू पड़ा, बढ़ा  रहा है चमक ।

बढ़ा रहा है चमक , कैल्शियम खूब खिलाओ ।
चाहे जितना शुद्ध, दूध तुम लेकर आओ ।

ढकोसले हैं ढेर, शेर पर सवा शेर हैं ।
उपभोक्ता को घेर, नगर में खुब अंधेर है  ।।


दर्द , दवा और दुवाएँ एक भँवर

G.N.SHAW 
 BALAJI 

श्री राम के स्वास्थ्य का, प्रभु जी रक्खें ख्याल ।
कठिन परीक्षा ले रहे, कठिन जाल जंजाल ।

कठिन जाल जंजाल, आस्था बढती जाए ।
कर्म करे इंसान, वांछित फल भी पाए ।

धीरज संकट काल, भक्त गन जो  धरते हैं ।
साईं सारे कष्ट, स्वयं से ही हरते हैं ।।

9 comments:

  1. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति।

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    रक्षाबन्धन के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  3. बहुत खूब लगे रहो !

    ReplyDelete
  4. सुंदर प्रस्तुति,,,

    रक्षाबँधन की हार्दिक शुभकामनाए,,,

    RECENT POST ...: रक्षा का बंधन,,,,

    ReplyDelete
  5. नारद का ही हाथ है, यह पूना विस्फोट-रविकर

    aap pehlae vyakti haen jo visfot par prafullit ho kar likh saktaa haen

    afsos

    ReplyDelete
    Replies
    1. हैपी रमजान शिंद जी,
      जनाब शिंद जी, दिनांक - ३१ जुलाई २०१२

      सलाम वालेकुम,

      शुन्य माता को मेरा सादर चरण स्पर्श कहियेगा, और अमूल भईया को के नमस्ते, आशा है वो लोग कुशल मंगल होंगे. उनकी कुशलता मे ही आपकी-हमारी कुशलता है, उनकी प्रसन्नता मे प्रसन्नता.

      रमजान के पाक महीने मे बिजली गुल करते ही अल्लाह ने आपकी जिस प्रकार से आपकी बरकत दी है, उससे हमें भी सुकून है की हमारी भी बरकत होगी. आज शाम हम रमजान के पवित्र महीने और आपके पदोन्नति के उपलक्ष मे धमाके बाजी कर खुशी का इजहार करेंगे, खुशी छोटी सी ही सही लेकिन कई बार मे मनाई जायेगी, क्या करे अभी कसाब भाईजान की तरह अल्लाह हम पर नजरे इनायत नहीं रखता, लेकिन जब भी मौका मिलेगा हम एक बड़ी खुशी मनाएंगे इंशा अल्लाह, इसी बहाने हमारी प्रक्टिस भी हो जायेगी. हाँ हम वादा करते हैं की मालो असवाब को कोई नुक्सान न होगा, रमजान के महीने मे इतना डिस्काउंट तो चलता है. हम उदार ब्लास्टर है..

      आपके देश मे हमारे ही भाई हमें पसंद नहीं करते, कहते मुसलमान आतंकी नहीं हो सकता, अल्लाह उनको जल्द रास्ते पे लाये, दो चार तो आ भी गएँ हैं, क्या आप भी मानते है की हम मुसलमान नहीं?? दिग्गी अंकल ने हमारे धरम पिता "ओसामा जी" का जो सम्मान किया उसको देखते हुए भी इस देश के मुसलमान भाईयों की शंका नहीं जाती. आशा इस दिशा मे आप कुछ नए कदम उठाएंगे.

      भारत - पकिस्तान मित्रता का जो कदम आपकी सरकार ने उठाया है वो काबिले तारीफ़ है, दो देश मित्र तभी हो सकते हैं जब दोनों की विचारधारा एक हो, हमारे यहाँ के साथ साथ आपके यहाँ भी धमाके हों, तब दर्द दूसरे दर्द को समझ पायेगा. हम आप मिलकर दोनों देशो के सम्बन्ध को और मजबूत बनायेंगे इशा अल्लाह.

      आशा है खुशी मनाने के इस तरह के तरीकों पे आपको एतराज न होगा, यहाँ की जनता भी इस प्रकार के जश्न की आदि हो गयी है, और आवाम भी खुश होती है, आपकी मिडिया को हमारा शुक्रगुजार होना चाहिए, कम से कम पचास घंटे का मैटर उनको भी मिलेगा.. साथ साथ आपकी सरकार को भी, कुछ देर के लिए ही सही लेकिन अन्ना आन्दोलन से सबका ध्यान जरुर भटकेगा.

      कृपया आप अपना विसिट कैंसिल कर दे, खामख्वाह लोग बाते बनायेंगे.

      रमजान मुबारक ,

      शब्बा खैर.

      टेरिरिस्ट वेलफेयर असोसियेशन

      (भाईयों जितनी उर्दू आती है उसी हिसाब से लिखा है, बाकी खुद समझ लीजियेगा)

      Delete
    2. १.यह टिप्पणियों का ब्लॉग है-

      २.किन शब्दों में आप को प्रफुल्लता दिखाई दी-

      ३. व्यंग नहीं दिखा , अफ़सोस----

      जांच असम की करो, हाथ नारद का निकले ।
      ए टी एस ध्यान धरो, बर्फ सेक्युलर न पिघले ।।

      Delete
    3. नारद का ही हाथ है, यह पूना विस्फोट
      ravikar ji
      is pankti me kewal uphaas haen vyang kis baat kaa
      pankti heading haen aur usko padh kar lagtaa haen blog laekhak keh rahaa haen naarad kaa haath thaa visfot me

      Delete